संपर्क करें

powered by MandirDekhoo.com

[ मंदिर सूचना ]

मंदिर क बारे मैं

तनोट माता मंदिर या मातेश्वरी तनोट राय दोनों एक ही है, बॉलीवुड फिल्म "बॉर्डर" में कई बार दिखाया गया है। तनोट माता मंदिर में 1971 के भारत-पाक युद्ध के दौरान पाकिस्तान की ओर से भारी गोलाबारी के बावजूद यह मंदिर अछूता रहा, भारत के बॉर्डर के पास स्थित है यह मंदिर, पर्यटक को इस मंदिर और पाकिस्तान सीमा के पार जाने की अनुमति नहीं है।


मंदिर का इतिहास

तनोट देवी हिंगलाज देवी की अवतार है जो बलूचिस्तान के लासवेला जिले में स्थित है माना जा रहा है। देवी की नींव 847 ईस्वी में तनोट में रखी गई थी और मूर्ति स्थापित की गई थी। 1965 के भारत-पाक युद्ध के दौरान तनोट माता मंदिर भी पाकिस्तानी सेना द्वारा लक्षित बमों से छुआ तक नहीं था, जबकि सभी बम विस्फोटक थे जो देवी तनोट की दिव्य शक्ति के कारण मंदिर के आसपास के क्षेत्र में पड़ता है लेकिन विस्फोट नही होते है। उन जिंदा बमो को अब तनोट माता मंदिर संग्रहालय में देखा जा सकता है।


[ मंदिर गतिविधि ]


दिनचर्या

समय गतिविधि
06:00 AM-12:00 PM प्रतिदिन प्रातःकाल दर्शन
04:00 PM-08:00 PM प्रतिदिन सायंकाल दर्शन

भजन

भजन संग्रह
यहाँ कोई रिकॉर्ड नही है

[ आयोजन ]


आने वाले आयोजन

तारीख नाम वर्णन

कार्यक्रम का कैलेंडर

समय नाम वर्णन

त्यौहार

तारीख नाम वर्णन

[ आभासी यात्रा ]